Thursday, August 4, 2016

नींद तो दर्द के बिस्तर पे Neend to Dard ke Bistar pe bhi

नींद तो दर्द के बिस्तर पे भी आ सकती है 
उनकी आगोश में सर हो ये ज़रूरी तो नहीं 

Neend to Dard ke Bistar pe bhi Aa sakti hai
Un ki Aagosh mai Sar ho, ye zaroori to nahin 











2 comments:

  1. नींद तो बचपन में आया करती थी,
    अब तो थक कर सो जाते हैं।
    Sukhdev

    ReplyDelete

स्कूल के एक पुराने - वृद्ध टीचर

बाहर बारिश हो रही थी, और स्कूल के अन्दर क्लास चल रही थी अचानक टीचर ने बच्चों से पूछा - अगर तुम सभी को 100-100 रुपया दिए जाए तो तुम सब क्य...