Thursday, July 27, 2017

मौत का फ़रिश्ता Maut Ka Farishtaa

लोग  भरते  रह  जाते  हैं  उमर  भर  तिजोरियाँ 
मगर मौत का फ़रिश्ता कभी रिशवत नहीं लेता 

Log bhartay reh jaatay hain umar bhar tijoriyaan
Magar maut ka frishtaa kabhi rishwat nahin leta 

Tijoriyaan -      Safe deposit box
Rishwat   -        Bribery  






No comments:

Post a Comment

ज़ाहिर है तेरा हाल सब

‘ग़ालिब’ न कर हुज़ूर में तू  अर्ज़  बार बार  ज़ाहिर है  तेरा हाल सब उन पर  कहे बग़ैर