Saturday, July 22, 2017

अगर हम एक हैं Agar Hum Ek Hain

अगर हम एक हैं  - तो  फिर इतने जुदा क्यों हैं
अगर वो एक है  - तो फिर इतने ख़ुदा क्यों हैं

अगर वो सब में है  -तो फिर मुझ से जुदा क्यों है
गर मुझ से जुदा है - तो फिर मेरा  ख़ुदा क्यों है
                     "डॉक्टर जगदीश सचदेव "   [मिशिगन  - यू एस ए ]


Agar hum ek hain to phir itanay judaa kyon hain 
Agar Vo ek hai - to phir itanay Khuda kyon hain 

Agar Vo sab main hai - to phir mujhse judaa kyon hai 
Gar mujhsay judaa hai - to phir mera Khuda kyon hai 

                     "Doctor Jagdish Sachdeva"
                           Michigan - USA 

No comments:

Post a Comment

पंद्रह सैनिक और चाय की दुकान

              " जम्मू और काश्मीर के कूपवाड़ा क्षेत्र के एक सैनिक द्वारा सुनाई गयी एक सच्ची कहानी " एक मेजर के नेतृत्व में पंद्र...