Friday, May 2, 2014

“It is better to light a small candle than to curse the darkness.”



“Shikavaa-e-Zulmat-e-Shab se to kahin behatar tha

       Apane Hissay ki ik shamma jalaa dee hoti”

 
"शिकवा ए ज़ुलमते शब से तो कहीं बेहतर था 
  अपने हिस्से की इक शम्मा जला दी होती " 

 

“It is better to light a small candle than to curse the darkness.”     
 
 
 
 

No comments:

Post a Comment

पंद्रह सैनिक और चाय की दुकान

              " जम्मू और काश्मीर के कूपवाड़ा क्षेत्र के एक सैनिक द्वारा सुनाई गयी एक सच्ची कहानी " एक मेजर के नेतृत्व में पंद्र...