Sunday, December 6, 2015

असली रिश्ते Asli Rishtay


ख़ून के रिश्ते भी परिवारों के होते हैं 
असली रिश्ते लेकिन विचारों के होते हैं 
विचार मिलें तो रिश्ते क़ायम रहते हैं 'राजन'
वरना तो टुकड़े ही परिवारों के होते हैं


Khoon ke rishtay bhi parivaaron ke hotay hain 
Asali Rishtay Lekin vichaaron ke hotay hain 
Vichar milen to rishtay qaayam rehtay hain 'Rajan' 
Vlarna to tukday hi parivaaron ke hotay hain 

    'Rajan Sachdeva'

No comments:

Post a Comment

​हाथ ​तो उसके भी दुखे होंगे Haath to us kay be dukhay hongay​

​हाथ ​तो उसके  भी  दुखे  होंगे ज़रूर  ​जिसने मेरी राह में काँटे बिछाए होंगे ​ Haath to uskay be dukhay hongay​ zaroor  Jisne meri ...