Sunday, January 4, 2015

The grave-yards are full of people



कहते थे जो हम से दुनिया चलती है 
उनकी लाशों से भरे शमशान  हैं 

The grave-yards are full of people who thought the world will cease to exist without them

Kehte the jo hum se duniya chalti hai
Unki Laashon se Bhare Shamshaan hain 



No comments:

Post a Comment

दर्पण की शिक्षा

पुराने जमाने की बात है। एक गुरुकुल के आचार्य अपने शिष्य की सेवा भावना से बहुत प्रभावित हुए। विद्या पूरी होने के बाद शिष्य को विदा करते समय ...