Tuesday, September 13, 2016

एक मैं ही समझदार हूँ Ek Main Hee

एक मैं ही समझदार हूँ बाकी सब नादान 
इसी  भ्रम में घूम रहा है देखो हर इंसान 

Ek main hee samajhdaar hoon baaki sub nadaan 
Isi Bharam me ghoom rahaa hai dekho har insaan 

1 comment:

  1. Hazoor baba ji aksar फरमाते थे ........मारा गया जिसने कहा मैं बड़ा।

    ReplyDelete

दर्पण की शिक्षा

पुराने जमाने की बात है। एक गुरुकुल के आचार्य अपने शिष्य की सेवा भावना से बहुत प्रभावित हुए। विद्या पूरी होने के बाद शिष्य को विदा करते समय ...