Friday, May 22, 2015

Kisi ko Makhmal par bhi neend nahin Aati

Kisi ko Makhmal par bhi neend nahin Aati
Pathar par bhi koi chain se sota hai 
                        (Rajan Sachdeva)


किसी को मख़मल पर भी नींद नहीं आती 
पत्थर पर भी कोई, चैन से सोता है   
                                        (राजन सचदेव)




1 comment:

स्कूल के एक पुराने - वृद्ध टीचर

बाहर बारिश हो रही थी, और स्कूल के अन्दर क्लास चल रही थी अचानक टीचर ने बच्चों से पूछा - अगर तुम सभी को 100-100 रुपया दिए जाए तो तुम सब क्य...