Sunday, February 26, 2017

तब हम कहाँ थे ?

एक बार दो दोस्त घूमते हुए एक महल के पास पहुँच गए....

पहले दोस्त ने उस शानदार महल को देखकर कहा कि जब इनमें रहने वालों की किस्मत लिखी जा रही थी - तब हम कहाँ थे?

दूसरा दोस्त पहले वाले का हाथ पकड़ कर उसे हस्पताल ले गया 
और ICU में पड़े मरीज़ों की तरफ इशारा करते हुए पूछा :

जब इनकी किस्मत लिखी जा रही थी तब हम कहाँ थे??


3 comments:

Blaming Others

All blame is a waste of time. No matter how much fault you find with another,  and regardless  of how much you blame him, it will not ch...