Friday, May 6, 2016

कभी कभी Kabhi kabhi

कभी कभी मैं याद में तेरी यूं  खो जाता हूँ 


मैं नहीं रहता हूँ तब - बस तू हो जाता हूँ 



Kabhi kabhi main yaad me teri yoon kho jata hoon

Main nahin rehta hoon tab - bus Tu ho jata hoon 

No comments:

Post a Comment

शायरी - चंद शेर Shayeri - Chand Sher (Few Couplets)

न जाने  डूबने वाले ने  क्या कहा  समंदर से  कि लहरें आज तक साहिल पे अपना सर पटकती हैं   Na Jaane doobnay waalay ne k ya kahaa s amander s...